अब बच्चों को भी देना होगा इनकम टैक्स

Credit - freepik

एक नाबालिग बच्चे द्वारा प्राप्त किसी भी धन को अर्जित और अनर्जित दो प्रकारों में वर्गीकृत किया जा सकता है।

यदि कोई बच्चा इसे पुरस्कार राशि के रूप में अर्जित करता है तो इसे अर्जित आय माना जाएगा लेकिन यदि उसने परिवार से उपहार के रूप में धन अर्जित किया है तो इसे अनर्जित धन माना जाएगा।

तो अब सवाल ये उठता है की , क्या बच्चो को भी अर्जित धन पर इनकम टैक्स का भुगतान करना पड़ेगा ? इसका जवाब आगे बताया गया है।

हाँ, धारा 64 1ए के तहत 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चे को प्राप्त होने वाले किसी भी पैसे को माता-पिता की आय के साथ जोड़ा जाएगा और लागू दरों पर कर लगाया जाएगा।

यदि माता-पिता दोनों कमा रहे हैं तो नाबालिगों की आय माता-पिता की आय के साथ जोड़ दी जाएगी, जिनकी आय अधिक है।

यदि बच्चा अनाथ है तो उसकी आय पर अलग से कर का भुगतान करना होगा है और आयकर रिटर्न भी अलग से दाखिल किया जाता है।

इसी तरह एक नाबालिग की कोई भी आय, जो विशिष्ट प्रकार की अक्षमताओं से पीड़ित है, माता-पिता की आय के साथ नहीं जोड़ी जाएगी। यह सौतेले बच्चों और गोद लिए गए बच्चों पर भी लागू होती है।

चूंकि टैक्स रिटर्न दाखिल करने पर कोई उम्र की सीमा नहीं है, इसलिए नाबालिग को अपनी आय पर टैक्स रिटर्न दाखिल करना पड़ता है।

लेकिन उसके माता-पिता भी उसकी ओर से कर सकते हैं,  वह "निर्धारिती प्रतिनिधि" के रूप में नाबालिग कर रिटर्न दाखिल कर सकता है।

DA में 4% की बढ़ोतरी: इतना बढ़ जाएगा आपका मासिक वेतन....जानने के लिए निचे दिए गए लिंक पर करें।